Bullet Train Review: वीडियो गेम जैसी किलिंग मशीन बनी ‘बुलेट ट्रेन’, रफ्तार इतनी कि पटरी पर नहीं ठहर पाई कहानी


Movie Review

बुलेट ट्रेन

कलाकार

ब्रैड पिट
,
जोएई किंग
,
आरॉन टेलर जॉनसन
,
ब्रायन टाइरी हेनरी
,
एंड्रयू कोजी
,
हिरोयुकी सनाडा
,
माइकल शैनन
और
सैंड्रा बुलक

लेखक

जैक ओल्केविक्ज (कोटारो इसाका लिखित ‘मारिया बीटल’ पर आधारित)

निर्देशक

डेविड लीच

निर्माता

87 नॉर्थ प्रोडक्शन
और
कोलंबिया पिक्चर्स

रिलीज डेट

4 अगस्त 2022

एक्शन थ्रिलर का जमाना है। दुनिया भर में रफ्तार, रोमांच और मारधाड़ वाली फिल्में सबसे ज्यादा कमाई कर रही हैं और स्टंट डायरेक्टर से फिल्म डायरेक्टर बने डेविड लीच के लिए महामारी के बाद खुले सिनेमाघरों में दर्शकों को खींच कर लाने के लिए फिल्म ‘बुलेट ट्रेन’ की कहानी जरूर इतनी मसालेदार लगी होगी कि उन्होंने न सिर्फ इस फिल्म की शूटिंग महामारी के दौरान ही पूरी करने की योजना बनाई बल्कि इसमें तमाम नामचीन सितारों को काम करने के लिए मना भी लिया। तेज रफ्तार से भागती ट्रेन में होते अपराध की कहानियों का बड़े परदे पर अपना एक अलग तिलिस्म रहा है। हिंदी सिनेमा में भी ऐसे प्रयोग खूब हुए हैं लेकिन रेलगाड़ी की यात्रा भारतीय दर्शकों के लिए मोटे तौर पर एक सुखद एहसास की बानगी रही है। उनके लिए एक रेलगाड़ी का मतलब अब भी ‘मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू…’ जैसा कोई गाना गाने का बहाना बनने से आगे अब भी कम ही हो पाया है। फिल्म ‘बुलेट ट्रेन’ इसके ठीक उलट कहानी है।

  ससुराल में प्रताड़ना, बच्चे का जिम्मा और फिर एक ब्रेक... पढ़ें- 'हर-हर शंभू' वाली Farmani Naaz की दास्तां

Leave a Comment